छत्तीसगढ़ के ढाई लाख कर्मचारियों को अप्रैल से 7वां वेतनमान

 छत्तीसगढ़ के ढाई लाख कर्मचारियों को अप्रैल से 7वां वेतनमान

Chhattisgarh-employees-7th-pay-scale-from-april

सरकार ने नवरात्र में प्रदेश के दो लाख साठ हजार कर्मचारियों को बड़ी सौगात दी है। विधानसभा में विनियोग विधेयक पर जवाब देते हुए मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने कर्मचारियों को सातवां वेतनमान देने की घोषणा की। इस घोषणा के बाद कर्मचारियों के बेसिक सेलरी में ढाई गुना बढ़ोत्तरी हो जाएगी। नया वेतनमान एक अप्रैल से लागू हो जाएगा। इससे सरकार पर 37 सौ करोड़ रुपए सालाना अतिरिक्त वित्तीय बोझ पड़ेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार पर जितना भी बोझ आएगा, वहन कर लेंगे। मध्यप्रदेश सरकार ने 7वां वेतनमान देने की घोषणा कर दी है, इसलिए छत्तीसगढ़ सरकार पर भी दबाव बढ़ गया है। मुख्यमंत्री ने विधायक जनसंपर्क निधि 4 से बढ़ाकर 6 लाख रुपए करने का भी एलान किया।

ऐसे समझ सकते हैं कितना बढ़ेगा वेतन

वेतमान के लिए मल्टीप्लाइंग फैक्टर लागू किया गया है। इसमें बेसिक सेलरी और ग्रेड पे को जोड़कर बेसिक बनाया गया है। इस बेसिक में प्रथम श्रेणी के अधिकारियों को 2.8 प्रतिशत, द्वितीय श्रेणी का 2.67 प्रतिशत, तृतीय और चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों का 2.5 प्रतिशत बढ़ोत्तरी की संभावना है।

प्रथम श्रेणी अधिकारी
  • बेसिक 49740 और ग्रेड पे 8700 को जोड़ने पर 58440 स्र्पए नया बेसिक बनेगा।
  • नए बेसिक को 2.8 गुना करने से बेसिक तनख्वाह 163632 स्र्पए हो जाएगी।

द्वितीय श्रेणी अधिकारी
  • बेसिक 20520 और ग्रेड पे 6600 को जोड़ने पर 27120 स्र्पए नया बेसिक बनेगा।
  • नए बेसिक को 2.67 गुना करने से बेसिक तनख्वाह 74039 स्र्पए हो जाएगी।

तृतीय और चतुर्थ श्रेणी अधिकारी
  • बेसिक 5200 और ग्रेड पे 1800 को जोड़ने पर 7000 स्र्पए नया बेसिक बनेगा।
  • नए बेसिक को 2.5 गुना करने से बेसिक तनख्वाह 17500 स्र्पए हो जाएगी।

0 Comments