विश्व तीरंदाजी युवा चैंपियनशिप में जैमसन और अंकिता की जोड़ी ने स्वर्ण पदक जीता

विश्व तीरंदाजी युवा चैंपियनशिप में जैमसन और अंकिता की जोड़ी ने स्वर्ण पदक जीता
world-archery-championship

विश्व तीरंदाजी युवा चैंपियनशिप प्रतियोगिता में जैमसन एन और अंकिता भाकट की जोड़ी ने रिकर्व टीम इवेंट का स्वर्ण पदक जीता. विश्व तीरंदाजी युवा चैंपियनशिप प्रतियोगिता अर्जेंटीना के रोसारियो में आयोजित की गई. इस टूर्नामेंट में भारतीय खिलाडियों ने कुल तीन पदक जीते. भारत ने एक सिल्वर और एक ब्रांज मेडल भी जीता.

सरायकेला के रहने वाले पल्टन हांसदा पहले भारतीय खिलाड़ी हैं, जिन्होंने मैक्सिको में 2006 में कैडेट व‌र्ल्ड चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीता. युवा चैम्पियनयशिप में में दीपिका कुमारी के वर्ष 2009 और वर्ष 2011 के खिताब के बाद भारत का यह पहला खिताब है.

जैमसन और भाकट की नौवी वरीयता प्राप्त जोड़ी ने शीर्ष वरीयता प्राप्त कोरियाई जोड़ी को क्वार्टर फाइनल में हराया. इसके बाद रविवार को रूसी जोड़ी को फाइनल में 6-2 से हराया. जैमसन के अनुसार, 'हमारे कोच ने दोनों की बहुत हौसलाअफजाई की. हमें जीतना ही था. हमने काफी मेहनत की थी.' जैमसन ने एस गजानन बाबरेकर और अतुल वर्मा के साथ पुरुष टीम वर्ग में भी रजत पदक जीता. खुशबू दयाल, संचिता तिवारी और दिव्या धवल ने प्लेऑफ में ग्रेट ब्रिटेन को 212-206 से हरा कर  भारत को कंपाउंड कैडेट महिला टीम इवेंट में ब्रांज मेडल दिलाया.

कोलकाता चिड़िया मोड़ की रहने वाली अंकिता भकत टाटा तीरंदाजी अकादमी की अंकिता भाकट के बारे में- कोलकाता चिड़िया मोड़ की रहने वाली अंकिता भाकट ने टाटा तीरंदाजी अकादमी से प्रशिक्षण प्राप्त किया. अंकिता भाकट भारत की पहली वामहस्त तीरंदाज हैं. आरम्भ में अंकिता भाकट ने कोलकाता तीरंदाजी क्लब में प्रशिक्षण लिया. वर्ष 2014 में उनका टाटा तीरंदाजी अकादमी में चयन हुआ. अंकिता भाकट ने इसी वर्ष एशिया कप स्टेज-2 की महिला रिकर्व वर्ग में प्रोमिला दायमरी व साक्षी राजेंद्र के साथ मिलकर रजत पदक अपने नाम किया.  

0 Comments