Breaking

बंगलूरू देश का पहला बायोमेट्रिक सिस्टम बेस्ड एयरपोर्ट बना

बंगलूरू देश का पहला बायोमेट्रिक सिस्टम बेस्ड एयरपोर्ट बना

Bangalore country first biometric system based airport

बेंगलुरु स्थित केम्पेगोडा अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डा (केआईए) देश का पहला आधार आधारित एंट्री और बायोमीट्रिक बोर्डिंग सिस्टम वाला एयरपोर्ट बनने जा रहा है. यह दिसम्बर 2018 तक पूर्ण रूपेण बायोमीट्रिक बोर्डिंग सिस्टम वाला एयरपोर्ट बन जाएगा.

बीआईएएल ने इस नए सिस्टम को लगाने हेतु 325 दिनों की अवधि निर्धारित की है. अगले चरण में 90 दिनों की अवधि में सभी डोमेस्टिक एयरलाइंस हेतु यह प्रक्रिया लागू की जाएगी. फिर चार अक्टूबर 2018 तक इंटरनैशनल एयरलाइंस में भी आधार आधारित सिस्टम लागू किया जाएगा और 31 दिसंबर 2018 तक पूरे एयरपोर्ट में आधार प्रक्रिया चालित होगा.

इसके बाद एयरपोर्ट में एंट्री हेतु यात्रियों को जगह-जगह आईडी कार्ड नहीं बल्कि सिर्फ मशीन के सामने हाथ दिखाना होगा. इससे न सिर्फ यात्रियों के लिए जगह-जगह चेकपॉइंट पर आईडी और बोर्डिंग पास दिखाने का झंझट खत्म होगा बल्कि यात्रियों का समय भी बचेगा. उद्देश्य- हवाईअड्डों की सुरक्षा बढ़ाने और यात्रियों का प्रवेश आसान करने हेतु अब हवाईअड्डा पर आधार आधारित एंट्री को बढ़ावा दिया जा रहा है. इसके तहत बेंगलुरु का केआईए पहला हवाईअड्डा होगा. बेंगलुरु इंटरनैशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (बीआईएएल) द्वारा भेजे गए प्रस्ताव के अनुसार, जहां मार्च तक एंट्री पर आधार और बायोमीट्रिक सिस्टम लागू किया जाएगा वहीं दिसंबर 2018 तक एयरपोर्ट को पूरी तरह आधार आधारित चालित किए जाने की संभावना है.

एयरपोर्ट में जगह-जगह चेकपॉइंट में एक यात्री पर करीब 25 मिनट का समय व्यर्थ होता है लेकिन आधार आधारित सिस्टम के बाद अब यह प्रक्रिया 10 मिनट में ही पूरी हो जाएगी. यानी बोर्डिंग गेट से पूर्व प्रत्येक चेंकपॉइंट में अब सिर्फ पांच सेकंड में ही वेरिफिकेशन किया जा सकेगा. साथ ही अब अधिक से अधिक यात्री एक ही गेट से प्रवेश ले सकेंगे और प्रवाह भी बना रहेगा. एयरपोर्ट पर बढ़ रही यात्रियों की संख्या- बीआईएएल के एग्जिक्युटिव डायरेक्टर और प्रेजिडेंट हरि मरार के अनुसार जिस तरह एयरपोर्ट में यात्रियों की संख्या में निरंतर वृद्धि हो रही है. यहां इस सिस्टम के जल्द से जल्द लगने की आवश्यकता है. एविएशन सेक्रेटरी आरएन चौबे के अनुसार इस प्रणाली के आरम्भ होने के बाद प्रत्येक यात्री को चेकिंग पर सिर्फ बायोमेट्रिक प्रोसेस से गुजरना होगा, न कि अपने आई.डी. प्रूफ दिखाने होंगे. टिकट दिखाने की आवश्यकता नहीं रह जाएगी. बंगलूरू के बाद देश के अन्य बड़े एयरपोर्ट्स भी इस प्रोसेस की शुरुआत करेंगे, जिसमें अगला नंबर हैदराबाद एयरपोर्ट का होगा.

No comments:

Powered by Blogger.